सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

अगस्त, 2021 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

गाजर की उन्नत किस्मों Varieties of carrots की खेती करे किसान, उत्पादन के साथ साथ ज्यादा मुनाफा भी।

Varieties of carrot  : आलू की बिजाई के साथ ही सितंबर से गाजर की खेती भी शुरू हो जाती है। gajar ki variety अगले 100 से 110 दिनों में फसल पकने के लिए तैयार हो जाती है। gajar ki variety यदि रोपण के समय किस्मों का सही ढंग से चयन किया जाए तो उपज में वृद्धि की जा सकती है।  Varieties of carrot Varieties of carrot in hindi सितंबर के महीने से गाजर की खेती शुरू हो जाती है। gajar ki variety आलू के साथ ही किसान इसकी बुआई भी शुरू कर देते हैं। सर्दी की यह मौसमी सब्जी तीन से चार महीने तक बाजार में खूब बिकती है।  Varieties of carrot भारत में गाजर की खेती मुख्यतः दो प्रकार की होती है, यूरोपीय और एशियाई।  carrot farming गाजर की खेती से भी अच्छा मुनाफा कमाया जा सकता है, बशर्ते सही किस्म का चुनाव करना जरूरी हो। gajar ki variety आज हम गाजर की उन्नत किस्मों के बारे में जानेंगे और यह भी देखेंगे कि कौन सी प्रजाति कितनी उपज देती है।  Varieties of carrot गाजर की एशियाई किस्में  Varieties of carrot पूसा रुधिरा, पूसा मेघालय, पूसा केशर, हिसार गेरिक, हिसार मधुर, हिसार रसीली, पूसा अ

सफल किसान पायल अग्रवाल केंचुआ खाद Vermicompost बनाकर कमाती हैं लाखो।

kechua khad (Vermicompost) ki safal kisan : पायल किराए पर जमीन लेकर केंचुआ खाद बना रही हैं, kechua khad ( Vermicompost ) उनका कहना है कि अगर आप इस काम को शुरू करना चाहते हैं तो कम से कम 30 बेड से शुरू करें। जिसकी मदद से आप इस काम से अच्छा मुनाफ़ा कमा सकते हैं। kechua khad (Vermicompost) kechua khad (Vermicompost) ki safal kisan मेरठ की रहने वाली पायल अग्रवाल safal kisan इन दिनों केंचुआ खाद बनाकर अच्छा मुनाफा कमा रही हैं, साथ ही आसपास के किसानों को जैविक खेती करने के लिए प्रेरित भी कर रही हैं।  kechua khad (Vermicompost) पायल safal kisan ने 3 साल के अनुभव को शेयर करते हुए बताया कि कैसे हम इस काम को कमर्शियल तरीके से कर सकते हैं और कम खर्च में अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।  kechua khad (Vermicompost) इन दिनों देश-विदेश में जैविक खेती और जैविक उत्पादों की मांग बढ़ रही है और जब आप जैविक खेती करते हैं तो केंचुआ खाद की मदद से आपको अच्छा उत्पादन मिल सकता है और इससे जैविक उत्पादों की गुणवत्ता भी बढ़ती है।  kechua khad (Vermicompost) 250 से 300 बेड की मदद से कम्

आलू की इस किस्म की खेती करे किसान, बंपर पैदावार और लागत बहुत कम।

Aalu ki nai Varieties : प्रशिक्षण के रूप में एक सरकारी संस्थान ने Aalu ki kism कसावा और चीनी आलू की किस्मों Potato Varieties की खेती की थी, जो सफल रही हैं। इसके बाद अब बड़ी संख्या में किसान इन दोनों किस्मों की खेती की ओर रुख कर रहे हैं।  Aalu ki nai Varieties Aalu ki nai Varieties (Potato Varieties) देश के किसान अब कसावा और चीनी आलू की खेती कर अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं। Potato Varieties सबसे अच्छी बात यह है कि ये दोनों आलू की किस्में कीट प्रतिरोधी हैं यानी ये कीट के हमले से प्रभावित नहीं होंगे और उत्पादन बहुत अधिक होता है।  Aalu ki nai Varieties प्रशिक्षण के रूप में एक सरकारी संस्थान ने कसावा और चीनी आलू की किस्मों की खेती की थी, जो सफल रही हैं। Potato Varieties इसके बाद अब बड़ी संख्या में किसान इन दोनों फसलों की खेती की ओर रुख कर रहे हैं।  Aalu ki nai Varieties एक रिपोर्ट के अनुसार, तिरुवनंतपुरम स्थित सेंट्रल ट्यूबर क्रॉप रिसर्च इंस्टीट्यूट (CTCRI) ने जिले के दो गांवों में इन किस्मों Potato Varieties को लगाकर कसावा और चीनी आलू (सिरुकिज़ंगु) की एक नई

पारस डेयरी की फ्रेंचाइजी लेकर शुरू करे सफल बिजनेस, हर माह ज़बरदस्त आमदनी।

paras dairy franchise : पारस डेयरी safal business से जुड़कर आप अच्छी कमाई कर सकते हैं। safal business आपको बता दें कि इस safal business कारोबार में छोटे-छोटे निवेश से हर महीने नियमित कमाई की जा सकती है। पारस की फ्रेंचाइजी लेना फायदे का सौदा है।  paras dairy franchise safal business paras dairy franchise अगर आप भी कोई safal business बिजनेस शुरू करने या डिस्ट्रीब्यूटरशिप लेकर कमाई करने की योजना बना रहे हैं तो आज हम आपको बताएंगे कि पारस डेयरी से जुड़कर आप कैसे कमाई कर सकते हैं।  paras dairy franchise देश में अमूल के अलावा कई कंपनियां दूध, दही और डेयरी का safal business कारोबार कर रही हैं, जिससे कई लोग पैसा कमा रहे हैं। आपको बता दें कि इस safal business कारोबार में छोटे-छोटे निवेश से हर महीने नियमित कमाई की जा सकती है। पारस की फ्रेंचाइजी लेना फायदे का सौदा है। इसमें न के बराबर नुकसान होने की संभावना है।  paras dairy franchise पारस के केंद्रों का पूरा नेटवर्क पश्चिमी यूपी, हरियाणा, राजस्थान, महाराष्ट्र और गुजरात के 5400 गांवों को कवर करता है और विभिन्

डिजीटल कुरियर डिलीवरी सफल बिजनेस से कमाई बहुत ज्यादा, इस तरह शुरू करे यह बिजनेस।

digital courier delivery safal business : डिजीटल कुरियर डिलीवरी सफल बिजनेस खोलने के लिए, यह महत्वपूर्ण है कि आप इसे शुरू करने से पहले इसके बारे में अच्छी तरह से जान लें। इसमें बहुत ज्यादा लाभ होता है, लेकिन तभी जब आप ग्राहकों को बेहतर सेवा दे सके।  digital courier delivery safal business digital courier delivery safal business डिजीटल कूरियर डिलीवरी सफल बिजनेस कम लागत में शुरू करने के लिए एक आसान व्यवसाय है। यह ऑनलाइन बाजार का युग है। लोग रोज करोड़ों का आर्डर देते हैं और कुछ न कुछ मांगते हैं।  लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि जो कंपनी सामान लाने का digital courier delivery safal business  काम करती है उसे कितना मुनाफा होता है? दरअसल, अगर एक बेहतर मॉडल पर काम किया जाए तो इस ऑनलाइन दौर में कोरियर कंपनियां अच्छी खासी कमाई कर रही हैं। digital courier delivery safal business उसका भी एक कारण है। चूंकि इन कंपनियों को केवल सामान ढोना होता है, इसलिए इनकी निर्माण लागत बिल्कुल नहीं होती है। ऐसे में आप चाहें तो इस बिजनेस को भी शुरू कर सकते हैं, वो भी सिर्फ दो लाख रुपये के निवेश से। अगर

काजू की खेती से किसान कमा रहे लाखो रुपए, यहां जाने काजू की खेती की पूरी जानकारी।

Cashew farming : काजू की खेती ( Kaju ki kheti ) के लिए उष्ण कटिबंधीय जलवायु सर्वोत्तम मानी जाती है। Kaju ki kheti इसके अलावा गर्म और आर्द्र जलवायु जैसी जगहों पर इसकी उपज बहुत अच्छी होती है। ( Kaju ki kheti ) काजू के पौधों को अच्छी तरह विकसित होने के लिए 600-700 मिमी बारिश की आवश्यकता होती है।  Cashew farming Kaju ki kheti ki puri jankari काजू सूखे मेवों के लिए बहुत लोकप्रिय माने जाते हैं। ( Kaju ki kheti ) इसका इस्तेमाल खाने में तो होता ही है साथ ही इसका इस्तेमाल मिठाई बनाने और इसे सजाने में भी किया जाता है।  Cashew farming काजू का उपयोग शराब बनाने में भी किया जाता है। ( Kaju ki kheti ) यही कारण है कि काजू की खेती बड़े पैमाने पर की जाती है। काजू निर्यात एक बड़ा व्यवसाय है। किसान इसके पेड़ लगाकर अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं।  Cashew farming काजू के पेड़ होते है। इसके पेड़ों की लंबाई 14 से 15 मीटर तक होती है। इसके पेड़ तीन साल में फल देने के लिए तैयार हो जाते हैं।  Cashew farming काजू के अलावा इसके छिलकों का भी इस्तेमाल किया जाता है।  ( Kaju ki kheti ) इसके छिलकों से पेंट और लुब्

यूपी एंटी करप्शन,एंटी भू-माफिया के लिए ऑनलाइन आवेदन और शिकायत कैसे करे।

anti bhu mafia aur anti corruption ki online shikayat : योगी ने लोगों को आश्वासन दिया कि भ्रष्टाचार करने वाले या किसी भी स्तर पर इसे बढ़ावा देने वाले किसी भी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा। anti bhu mafia aur anti corruption ki online shikayat सरकार एंटी ग्राफ्ट पोर्टल पर वीडियो या कोई अन्य साक्ष्य अपलोड होने पर अधिकारियों के खिलाफ सख्त और प्रभावी कार्रवाई की जाएगी।  anti bhu mafia aur anti corruption ki online shikayat anti bhu mafia aur anti corruption ki online shikayat यूपी जनसुनवाई सभी हित धारकों को शामिल करते हुए नई तकनीक का उपयोग करके सुशासन के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए उत्तर प्रदेश में शिकायत निवारण के लिए एक सबसे बेहतर माध्यम है।  anti bhu mafia aur anti corruption ki online shikayat एक नागरिक स्वतंत्र रूप से और आसानी से शिकायत दर्ज कर सकता है, सभी महत्वपूर्ण प्लेटफॉर्म पर दर्ज शिकायत को ट्रैक कर सकता है और गुणवत्ता और समय दोनों के संदर्भ में अपनी संतुष्टि का जवाब प्राप्त कर सकता है।  anti bhu mafia aur anti corruption ki online shikayat नागरिक शिकायत दर्ज करा

कॉफी फ्रेंचाइजी के सफल बिजनेस से कर सकते है अच्छी कमाई, यह कॉफी ब्रांड दे रहा फ्रेंचाइजी।

coffee franchise safal business : कॉफी फ्रेंचाइजी लेने के लिए आपको 50 हजार रुपये खर्च करने होंगे। यह ब्रांड 20 साल से कॉफी वेडिंग के क्षेत्र में काम कर रहा है, इसलिए बाजार में इसका नाम है। फ्रेंचाइजी लेने के लिए आप इस लिंक पर क्लिक करें और पूरा फॉर्म भरें। coffee franchise safal business coffee franchise safal business आप फ्रेश और ईमानदार कॉफी का आउटलेट स्थापित करके अच्छी रकम कमा सकते हैं। एक व्यवसाय जो इस समय सबसे अधिक चलन में है वह है फ्रैंचाइज़ी व्यवसाय। इस मॉडल की खासियत यह है कि आपको न सिर्फ एक बड़े ब्रांड का नाम मिलता है, बल्कि आप इसके कस्टमर बेस का भी फायदा उठा सकते हैं।  coffee franchise safal business ऐसी ही एक कंपनी है Fresh & Honest Coffee Point, जो आपको अपनी फ्रैंचाइज़ी खोलने का मौका दे रही है। अगर आपके पास इस काम को शुरू करने के लिए 10 लाख रुपए और थोड़ी सी जमीन है तो आप इस बिजनेस को आसानी से चला सकते हैं। क्योंकि कॉफी लवर आपको भारत के किसी भी कोने में मिल जाएगा।  coffee franchise safal business Coffee franchise के लिए क्या करना होगा Franchise India की वे

अरबी की खेती के लिए उन्नत किस्में, जिनका उत्पादन ज्यादा और लागत बहुत कम।

Arbi ki kheti aur arbi ki varieties : डॉ. राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय पूसा समस्तीपुर के ढोली केंद्र ने अरबी फसल पर शोध किया है, तो पाया गया है कि अरबी फसल भी अंतरफसल फसलों के साथ है, यानी किसान साल में दो बार अलग-अलग फसलों की खेती करके अच्छी कमाई करते हैं।  Arbi ki kheti aur arbi ki varieties Arbi ki kheti aur arbi ki varieties अकेले अरबी की खेती करने के बजाय, अगर वे इसे और फसलों की साथ करते हैं तो किसानों को अधिक लाभ मिल सकता है। यह मकई के साथ, आलू के साथ भी किया जा सकता है।  Arbi ki kheti aur arbi ki varieties इससे किसान कई लाभ उठा सकते हैं। अखिल भारतीय एकीकृत कंद जड़ अनुसंधान परियोजना, तिरहुत कृषि महाविद्यालय, डॉ. राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय, पूसा के ढोली केंद्र में किए गए शोध के परिणामों से यह साबित हुआ है। अरबी से अधिक फसलें उगाई जा सकती हैं।  Arbi ki kheti aur arbi ki varieties अरबी की खेती फसल वैज्ञानिक डॉ. आशीष नारायण के अनुसार सिंचित अवस्था में यदि अरबी की दो पंक्तियों के बीच प्याज की तीन पंक्तियों को आपस में काट दिया जाए तो अतिरिक

चंदन के पेड़ की खेती करे किसान, कमाई 3 करोड़ प्रति एकड़।

Chandan tree farming : यदि आप चंदन के पेड़ की खेती Chandan ki kheti करने की योजना बना रहे हैं तो आपको अच्छी जल निकासी वाली मिट्टी की आवश्यकता हो सकती है जिसमें जैविक खाद हो। Sandalwood farming लाल बलुई दोमट मिट्टी भी चंदन के पेड़ के लिए उपयुक्त होती है और आपको अधिक उपज देने वाली फसल मिलती है। Chandan tree farming Chandan tree farming (Sandalwood farming) चंदन के पेड़ Chandan tree farming अपनी प्यारी सुगंध के लिए लोकप्रिय हैं और इसकी लकड़ी की सामग्री का उपयोग सदियों से किया जाता रहा है। भारत में, चंदन का पेड़ Chandan tree farming चंदन या श्रीगंधा के रूप में भी लोकप्रिय है और यह सबसे महंगा पेड़ का पौधा है।  Sandalwood farming यह एक Chandan ki kheti सदाबहार पेड़ है और ज्यादातर कॉस्मेटिक, चिकित्सीय, वाणिज्यिक और औषधीय में प्रयोग किया जाता है।  Sandalwood farming Chandan के पेड़ की ऊंचाई और मोटाई चंदन के पेड़ की अधिकतम ऊंचाई 13 से 16 मीटर और मोटाई 100 सेमी से 200 सेमी तक होती है।  Sandalwood farming Chandan tree की खेती कहा की जाती है चंदन का पेड़ भारत, नेपाल, बा

कन्या सुमंगला योजना के लिए ऐसे अप्लाई करे, योगी सरकार दे रही 15000 रुपए।

Kanya Sumangala Yojana : केंद्र की मोदी सरकार ही नहीं, बल्कि कई राज्य सरकारें भी बेटियों को बढ़ावा देने और प्रोत्साहित करने का काम कर रही हैं। जिसके तहत अलग-अलग नाम से योजनाएं शुरू की गई हैं। Kanya Sumangala Yojana apply online  ऐसी ही एक योजना उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई है। जिसके तहत बेटी के जन्म से लेकर ग्रेजुएशन तक 15000 रुपये दिए जाएंगे।  Kanya Sumangala Yojana kanya sumangala yojana ke liye aise apply kare देश की बेटियों को आगे बढ़ाने के लिए देश में कई योजनाएं हैं। ऐसी ही एक योजना है कन्या सुमंगला योजना। ( kanya sumangala yojana ) जिसे उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा लागू किया गया है।  kanya sumangala yojana इस योजना kanya sumangala yojana की विशेषता यह है कि बेटी के जन्म से लेकर स्नातक होने तक बेटी को 15,000 रुपये की राशि मिलती है। जो बेटी के 18 साल पूरे होने से पहले मां के खाते में जमा हो जाती है।  kanya sumangala yojana apply online राज्य सरकार द्वारा इस योजना kanya sumangala yojana को लाने का मुख्य कारण यह था कि पैसों की कमी के कारण पढ़ाई से वंचित नहीं रहना चाहिए

अब किसान कही भी करे ब्रोकली की खेती, ब्रोकली की हाईब्रिड किस्म से बंपर उत्पादन और कमाई।

broccoli ki kheti  : ब्रोकली 18°C ​​से 20°C के आसपास बढ़ते तापमान में सर्वोत्तम पैदावार देती है। broccoli ki hybrid variety ब्रोकली के बीजों के अंकुरण के लिए मिट्टी का तापमान 20°C से 22°C के आसपास होना चाहिए। broccoli ki hybrid variety broccoli ki kheti aur broccoli ki hybrid variety ब्रोकली एक स्वादिष्ट और खाने योग्य हरी सब्जी है, जो गोभी फैमिली से संबंधित है। सामान्य तौर पर ब्रोकली का बड़ा फूल हमारे दैनिक जीवन में सब्जी के रूप में खाया जाता है।  broccoli ki kheti ब्रोकली ठंडे मौसम की फसल है, जिसे बसंत और पतझड़ में उगाया जा सकता है। ब्रोकली उगाने का मुख्य लाभ यह है कि अगर इसे ठीक से लगाया जाए तो इस हरी सब्जी के पौधे को साल भर काटा जा सकता है। broccoli ki hybrid variety ब्रोकली के ताजे फूल लगभग सभी प्रकार के विटामिन और खनिजों से भरपूर होते हैं। इसके अलावा, वे सलाद में कच्चे के रूप में स्वादिष्ट और स्वादिष्ट होंगे। ग्रामीण क्षेत्र में बड़ा मुनाफा कमाने के लिए ब्रोकली की खेती सबसे अच्छा विकल्प है।  broccoli ki kheti ब्रोकली की खेती कहां कहां की जा सकती है मूल रूप से, इसे घर

Aloe vera ki hybrid variety एलोवेरा की हाईब्रिड वैरायटी की खेती करे किसान और ले ज़बरदस्त मुनाफा।

Aloe vera ki kheti : व्यापार की दृष्टि से एलोवेरा की खेती करना बहुत ही आसान है। Aloe vera ki hybrid variety क्योंकि एलोवेरा को एक बार लगाने के बाद पांच साल तक काटा जा सकता है। इसका एक और फायदा यह है कि जानवर इसे नहीं खाते।  Aloe vera ki hybrid variety Aloe vera ki hybrid variety Aloe vera ki hybrid variety : बदलते समय के साथ बाजार में एलोवेरा की मांग काफी बढ़ गई है। एलोवेरा अपने चिकित्सीय और कॉस्मेटिक उपयोगों के कारण अंतरराष्ट्रीय बाजार में काफी मांग में है।  Aloe vera ki hybrid variety शोध में यह भी सामने आया है कि भारत में वैदिक काल से ही यहां के ऋषि मुनि एलोवेरा का प्रयोग करते रहे हैं। यही कारण है कि आयुर्वेदिक उद्योग में एलोवेरा की बहुत मांग है और यह दिन-ब-दिन लगातार बढ़ रही है।  Aloe vera ki hybrid variety एलोवेरा की खेती से किसान आसानी से प्रति एकड़ 1-2 लाख तक कमा सकते हैं। एलोवेरा की खेती में लागत अन्य फसल की खेती में बहुत कम है।  Aloe vera ki hybrid variety एलोवेरा की हाईब्रिड किस्म का प्रयोग करें यदि किसान भाई कृषि केंद्र से इनमे से किसी भी हाईब्रिड किस्म के एल